प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत केंद्र सरकार ने 21 दिन के लॉक डाउन को ध्यान में रखते हुए 26 मार्च 2020 को इसकी शुरुआत की है, ताकि गरीब लोगों को किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। हमारी वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री जन कल्याण योजना के तहत विभिन्न प्रकार की योजनाएं शुरू की हैं। इस योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए केंद्र सरकार द्वारा 1.70 करोड़ की राशि आवंटित की गई है। 80 करोड़ लाभार्थी लाभ ले पाएंगे, अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं और योजना से जुड़ी सारी जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो हमारा साथ बने रहे और इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत प्राथमिकता

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है। जिसके वजह से कई राज्यों में लॉकडाउन है। इसे ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत राशन देने की घोषणा की गई है। सभी लाभार्थियों तक राशन पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है इस योजना के माध्यम से। देश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिकों जैसे सड़क पर रहने वाले, कचरा संग्रहण, प्रवासी मजदूर, रिक्शा चालक, फेरीवाले आदि को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से प्राथमिकता दी जाएगी। यह जानकारी डीएफपीडी के सचिव सुधांशु पांडेय ने दी।

मुख्य तथ्य प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

योजना का नामप्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना
किसके द्वारा शुरू की गयीप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा
लाभार्थीदेश मे 80 करोड़ लाभार्थी
उद्देश्यराशन पर गरीब लोगो को सब्सिडी प्रदान की जाएगी

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अपडेट

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना कोरोनवायरस के कारण शुरू की गई थी। इस योजना के तहत 26 मार्च 2020 से 30 जून 2020 तक कोरोनावायरस लॉकडाउन के कारण हर महीने 80 करोड़ गरीबों को 5 किलो राशन (चावल या गेहूं) और 1 किलो दालें निशुल्क दी जा रही थीं। अब इस योजना को 30 नवंबर तक बढ़ा दिया गया है। इस योजना के तहत परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेहूं या चावल दिया जाएगा और 1 किलो दाल दी जाएगी। यह राशन निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। खाद्य आपूर्ति मंत्रालय के मुताबिक, इस योजना के तहत अप्रैल और मई के महीनों में 75 करोड़ गरीबों को और जून में 73 करोड़ गरीबों को कवर किया गया। इस योजना के क्रियान्वयन के लिए 90 हजार करोड़ रुपये की राशि निर्धारित की गई है।

पीएम गरीब कल्याण योजना

आप सभी जानते ही हैं कि 12 मई, 2020 को हमारे देश के प्रधानमंत्री द्वारा 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत पैकेज की घोषणा की गई है। गुरुवार को निर्मला सीतारमण जी ने। इस घोषणा के तहत देश के जिन प्रवासी मजदूरों के पास प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत अपना राशन कार्ड नहीं है, उन्हें अब सरकार द्वारा दो माह तक 5 किलो चावल/गेहूं और 1 किलो ग्राम प्रति परिवार की दर से उपलब्ध कराया जाएगा। इस पर करीब 3500 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे और इसका पूरा खर्च केंद्र सरकार वहन करेगी। इससे देश के करीब 8 करोड़ प्रवासियों को फायदा होगा। 

PMGKY

46,000 करोड़ रुपये, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) के तहत आवंटित किए गए हैं। अगले तीन महीने में 104.4 लाख टन चावल की जरूरत होगी, गरीब परिवारों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए। विभिन्न राज्यों के लिए 56.7 लाख टन चावल का उठाव अब तक केंद्र सरकार ने किया है। और इसी तरह 156 लाख टन गेहूं की जरूरत अगले तीन महीने में पड़ेगी। साथ ही सरकार अब तक विभिन्न राज्यों को 77 लाख टन गेहूं आवंटित कर चुकी है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का उद्देश्य

चूंकि ऐसे कई लोग हैं जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और कड़ी मेहनत से अपनी जिंदगी जी रहे हैं, लेकिन कोरोना वायरस के कहर के कारण पूरे देश में 21 दिन का लॉक डाउन है ताकि गरीब लोग अपने काम पर न जाएं। इस समस्या को देखकर प्रधानमंत्री ने इस पीएम राशन सब्सिडी योजना की घोषणा की है, इस योजना के जरिए देश के लोग सब्सिडी पर हर महीने 7 किलो राशन प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के माध्यम से देश के गरीब लोग लॉक डाउन डेज के दौरान घर बैठे अच्छा जीवन जी सकते हैं।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की कुछ मुख्य विशेष बातें

योजना का लाभराशि / लाभ
राशन कार्डधारक (80 करोड़ लोग)अतिरिक्त 5 किलो राशन मुफ्त
कोरोना योद्धा (डॉक्टर, नर्स, स्टाफ)बीमा 50 लाख का
किसान (पीएम किसान योजना में पंजीकृत)2000 / – (अप्रैल प्रथम सप्ताह में)
जन धन खाताधारक (महिला)500 / – अगले तीन महीने
विकलांग, गरीब नागरिक, वरिष्ठ नागरिक, विधुर1000 / – (अगले तीन महीने के लिए)
उज्जवला योजनासिलेंडर अगले तीन महीने तक फ्री
स्वयं सहायता समूहोंअतिरिक्त ऋण 10 लाख मिलेगा
निर्माण मजदूरउनके लिए 31000 Cr Fund का उपयोग किया जाएगा
ईपीएफअगले तीन महीने के लिए सरकार द्वारा 24% (12% + 12%) का भुगतान किया जाएगा

प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना के लाभ

  • देश के सभी राशन कार्ड धारक इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
  • देश के 80 करोड़ लाभार्थियों को इस योजना के तहत राशन सब्सिडी दी जाएगी।
  • देश के लोगों को राशन की दुकानों पर तीन महीने के लिए चावल 3 रुपये प्रति किलो और 2 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से गेहूं दिया जाएगा।
  • देश के 80 करोड़ लाभार्थियों को 3 महीने के लिए प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना के तहत सरकार द्वारा 7 किलो राशन उपलब्ध कराया जाएगा।
  • अब तक 5.29 करोड़ लोगों को 2.65 लाख मीट्रिक टन राशन इस योजना के तहत दिया जा चुका है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में पंजीकरण कैसे करे ?

देश के गरीब लोग जो सरकार द्वारा इस योजना के तहत सब्सिडी पर राशन लेना चाहते हैं, फिर उन्हें नीचे दिए गए दिशा-निर्देशों को पढ़ना होगा। प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना के तहत लाभ पाने के लिए पंजीकरण प्रक्रिया नहीं है। देश के इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना के तहत 3 रुपए प्रति किलो की दर से चावल और 2 रुपए प्रति किलो की दर से गेहूं प्राप्त करना चाहते हैं, तब वे राशन की दुकान पर जाकर अपने राशन कार्ड के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। गरीब लोग अपना जीवन यापन कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top